असम, अरुणाचल प्रदेश, आंध्र प्रदेश, बिहार, चंडीगढ़, छत्तीसगढ़, दिल्ली, गोवा, गुजरात, हिमाचल प्रदेश, हरयाणा, जम्मू और कश्मीरझारखण्ड, कर्नाटक, केरल, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, मणिपुर, मेघालय, मिजोरम, नागालैंड, ओडिशा, पंजाब, राजस्थान, सिक्किम, त्रिपुरा, तेलंगाना, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, उत्तराँचल, वेस्ट बंगाल

परिवारों का पंजीकरण, दस्तावेज़ व अन्य जाँच, रोजगार कार्डों का वितरण

job card in india how to work read at alloverindia.in

परिवारों का पंजीकरणमुख्य विचारणीय मुद्दे:- संबधित अधिकारी कर्मचारी की अनुपस्थिति/गैर-हाज़री  अभाव। योग्य आवेदकों  पंजीकरण न करना। पंजीकरण के बदले पैसे मांगना।  किसी परिवार के व्यस्कों की अधूरी सूची। फ़र्ज़ी परिवारों/व्यस्कों का पंजीकरण।  अधूरे पंजीकरण फार्म खारिज। दस्तावेज़ व अन्य जाँच: गरीबी रेखा से नीचे, अनुसूचित जाति व जनजाति परिवारों में जिनके जॉब कार्ड नहीं बने हैं उनमें से 10 प्रतिशत परिवारों से नमूना आधार पर बातचीत करना। योजना के लागु करने समय किये गए सर्वेक्षण के आधार करना। वोटर लिस्ट व परिवार रजिस्टर की जाँच। पंजीकरण आवेदन फाइल की जाँच।  परिवार रजिस्टर की जाँच तथा रोजगार पंजीकरण रजिस्टर से तुलना।

रोजगार कार्डों का वितरण

मुख्य विचारणीय मुद्दे :- झूठे रोजगार कार्ड जरी कर देना।  अयोग्य व्यक्तियों को रोजगार कार्ड जरी कर देना :- क) अनिवासी ख) नाबालिग। रोजगार कार्ड मिलने में देरी। रोजगार कार्ड जरी न किया जाना।  रोजगार कार्ड जरी करने के लिए पैस मांगना। दस्तावेज़ व अन्य जाँच : परिवार रजिस्टर की जाँच तथा रोजगार पंजीकरण रजिस्टर से तुलना।  पंजीकरण आवेदन फाइल  रोजगार पंजीकरण रजिस्टर से मिलान। गत एक त्रैमास में पंजीकृत कामगारों में से 10 % कामगारों से नमूना आधार पर बातचीत।

Employment allocation in india read at alloverindia.in

रोजगार के लिए आवेदन की प्राप्ति

मुख्य विचरणीय मुद्दे :- संबधित अधिकारी द्वारा रोजगार आवेदन स्वीकार न करना। मौरिवक या समय पर काम न दे पाने के कारण मांग को खारिज कर देना।  रोजगार आवेदन पर गलत तारीख का होना या कोई तारीख न होना।  ‘अधूरे’ आवेदनों को खारिज कर देना। दस्तावेज़ व अन्य जाँच:- जॉब कार्ड धारकों से 10% परिवारों से नमूना आधार पर बातचीत करना जिन्होंने पिछले तीन महीने से काम नहीं किया है।  कार्य आवेदन पप् से रसीद हिस्सा जांचना।  आवेदन फाइल। कार्य मांग रजिस्टर। रोजगार पंजीकरण रजिस्टर और जॉब कार्ड। कार्य आवेदन फाइल और कार्य मांग रजिस्टर की तुलना।

ग्राम पंचायत में लागू होने वाले कार्यों का सार्वजानिक चुनाव करना

मुख्य विचारणीय मुद्दे:- अल्प-प्रथमिकता वाले या अनावश्यक कामों का चुनाव। ऐसे कामों का चुनाव कर लेना जिनसे किसी को निजी फयदा होने वाला है।  काम के लिएजनता की सहायता/समर्थन का अभाव। गलत कार्य स्थल का चुनाव। 

दस्तवेज व अन्य जाँच:- भावी योजना तथा कामों के सैल्फ की जाँच।  कार्य स्थल का निरसखन।  ग्राम पंचायत चुनाव में हरे हुए उम्मीदवारों के साथ बातचीत। भावी योजना तथा कामों को सैल्फ जाँच। कार्य स्थल का निरिकधन। सामुदायिक और स्वेच्छिक संगठनों के प्रतिनिधियों से बातचीत करके। कार्य स्थल का निरीक्षण तथा तकनीकी अनुमोदन/स्वीकृति की जाँच।

तकनिकी आकलन पर मंजूरी और कार्य आदेश जरी करना

मुख्य विचारणीय मुद्दे :- बड़ा-चढ़ा कर या गलत तकनिकी आकलन तैयार करना।  तकनिकी आकलन में अनावश्यक खर्चों को शामिल कर लेना। ऊँची दरों और जरुरत से ज्यादा माल की मांग। अस्प्ष्ट कार्य आदेश जिनसे काम के बारे में सही पता नहीं चलता या जिनमे भ्र्म की गुंजाइश रह जाती है। दस्तावेज व अन्य जाँच:- तकनिकी अनुमान/स्वीकृति की जाँच व कार्य स्थल का निरीक्षण। तकनिकी अनुमान/स्वीकृति की जाँच। स्टॉक रजिस्टर। परिसम्पत्ति रजिस्टर। मंजूर दरों तथा प्रचलित दरों की लागू दरों के साथ तुलना।  एस्टीमेट की कार्य आदेशों से तुलना। 

रोजगार आबंटन

मुख्य विचरणीय मुद्दे:- किसी को उसकी बारी आने से पहले ही रोजगार दे देना। रोजगार की किस्म/स्थान के आंबटन में भेदभाव। महिलायों के लिए निर्धारित सीटों को न भरना।  ावधकों को सूचित न करना और बाद ,में उन्हें गैर-हाज़िर घोषित कर देना।  काम के बदले पैसे मांगना।

दस्तावेज़ व अन्य जाँच:- पिछले तीन महीनों में काम करने वाले कामगारों की। मस्टर रोल से तैयार सूची। कार्य मांग रजिस्टर। जब कार्ड धारकों से 10% परिवारों का नमूना आधार पर बातचीत करना जिन्होंने पिछले तीन महीने से काम किया है। पंचायत का नोटिस बोर्ड। ग्राम पंचायत के कार्यालय में सुचना की कार्यालय प्रति या अन्य रिकॉर्ड।  पिछले तीन महीनों में काम करने वाले कामगारों की मस्टर रोल से तैयार सूची से महिलायों की संख्या निकलना।  कार्य मांग रजिस्टर से मिलान करना।  जॉब कार्ड धारकों से 10% परिवारों से नमूना आधार पर बातचीत करना जिन्होंने पिछले तीन महीने में काम किया है।  पंचायत का नोटिस बोर्ड।  ग्राम पंचायत के कार्यालय में सुचना प्रति या अन्य रिकॉर्ड। जॉब कार्ड धारकों से 10% परिवारों से नमूना आधार पर बातचीत करना जिन्होंने पिछले टीम म्हणे से काम नहीं किया है। जॉब कार्ड धारकों से 10% परिवारों से नमूना आधार पर बातचीत करना जिन्होंने पिछले तीन महीने में काम किया है, व अनुपस्थित थे। 

क्रियान्वयन और देखरेख


मुख्य विचारणीय मुद्दे:- गैर-मौजूद (फ़र्ज़ी) मज़दूरों के नाम दर्ज़ करना।  जाली (फ़र्ज़ी) कामों को डर्क्स करना। काम का तय मानकों या शर्तों के अनुरुप न होना। स्वीकृति के मुकाबले कम या घटिया सामान की आपूर्ति। दस्तावेज़ व अन्य जाँच:- 10% नमूने के आधार पर कार्यस्थलों का निरीक्षण करके।  मस्ट्रोल से मिलान।  परिवार रजिस्टर, रोजगार रजिस्टर का कामगारों सूची और मस्ट्रोल से मिलान करके।  10% नमूने के आधार पर कार्यस्थलों का निरीक्षण करके तथा कामों की गुणवत्ता, तकनिकी अनुमान व अनुसूचित क दरों की तुलना करना। 

बेरोजगारी भत्ते का भुगतान

मुख्य विचारणीय मुद्दे:- बुलाने के बावजूद काम पर न आने का आरोप लगाते हुए किसी व्यक्ति को बेरोजगारी भत्ते से वंचित कर देना।  बेरोजगारी भत्ते का देर से भुगतान। देर से भुगतान। देर से भुगतान। गैर-मौजूद मज़दूरों के नाम पर वेतन भुगतान। बरोजगारी भत्ते के बदले पैसे मांगना। दस्तावेज़ व अन्य जांच:- जॉब कार्ड धारक परिवारों के 10% नमूना आधार पर बातचीत करना जिन्होंने पिछले तीन महीने से काम नहीं किया है। कार्य मांग रजिस्टर/आवेदन फाइल। बेरोजगारी भत्ता रजिस्टर।  कार्य मांग रजिस्टर/आवेदन फाइल। जॉब कार्ड धरक परिवार के 10% नमूना के आधार पर बातचीत करना जिन्होंने पिछले तीन महीने में काम न मिला है।  जॉब कार्ड धरक परिवार के 10% नमूना के आधार पर बातचीत करना जिन्होंने बेरोजगारी भत्ता प्राप्त किया है।  मस्टर रोल से मिलान।  रोजगार पंजीकरण रजिस्टर से मिलान।  

वेतन भुगतान

मुख्य विचारणीय मुद्दे:– वेतन भुगतान न होना। वेतन का देर से भुगतान। काम वेतन का भुगतान किसी गलत व्यक्ति को भुगतान। गैर-मौजूद मज़दूरों के नाम पर वेतन भुगतान।गलत मज़दूरों को भुगतान।  गैर-मौजूद परियोजनायों के मद में भुगतान।  न्यूनतम वेतन का भुगतान न कर पाना। 

दस्तावेज़ व अन्य जाँच:- जॉब कार्ड धारक परिवारों के 10%नमूना के आधार पर बातचीत करना जिन्होंने पिछले तीन महीने में काम किया है तथा रोजगार पंजीकरण रजिस्टर से तुलना/मिलान करना। भावी योजना से कार्य आदेशों की तुलना तथा कार्य स्थल का निरीक्षण।  10% नमूने के आधार पर माप पुस्तिका और मस्ट्रोल की जाँच करना जिसमें भुगतान निर्धारित दर से कम हुआ है। 

पुरे हो चुके काम का मूल्यांकन

Propellerads

मुख्य विचारणीय मुद्दे:- काम का गलत माप। कामों के बारे में उपलब्ध जानकारियों को एक जगह इकठ्ठा न करना। जूते उपयोगिता प्रमाण पत्र जरी कर देना। कामों का निर्धारित मानकों के अनुसार न होना। जानकारियों को भ्रामक या जटिल ढंग से दर्ज़ करना। 

दस्तावेज़ व अन्य जाँच:- कार्य स्थल का निरीक्षण, माप पुस्तिका और मस्ट्रोल से एस्टीमेट की तुलना। बिल वाउचर, स्टॉक रजिस्टर व मस्टर रोल की जाँच। कार्य स्थल का निरीक्षण, साइट बोर्ड, कार्य फाइल और रजिस्टर की जाँच। एस्टीमेट  पुस्तिका से तुलना  कार्य स्थल का निरीक्षण।  पंचायत पदाधिकारियों से जानकारियों को आसान रूप में प्रस्तुत करने से कहना।

अनिवार्य सामाजिक ऑडिट

SEMrush

मुख्य विचारणीय मुद्दे:- उपर लिखित बिन्दुओं और दिशा-निर्देशों में निर्धारित पारदर्शिता मानकों का पालन न किये जाने के कारण सूचनाएं उपलब्ध न कराया जाना।  मज़दूरों को बकाया राशि का भुगतान न हो पाना और अफसरों की जबाबदेही सुनिश्चित न कर पाना। योजना के बारे में उठे सवाल पर कोई उत्त्तर या स्प्ष्टीकरण न दे पाना। कार्यक्रम के भिभिन्न पहलुयों के किर्यान्वयन में  हिस्सेदारी न होना। शिकायत निपकरा व्यवस्था की विफलता। कार्यक्रम के भिभिन्न पहुलओं की समीक्षा के लिए व्यक्तिगत या ग्राम सभा के स्तर पर अवसरों का अभाव।

दस्तावेज़ व अन्य जाँच:- पिछली ग्राम सभा की रिपोर्ट तथा उभरे मुद्दों पर अनुवर्ती कार्यवही की जाँच।  समुदाय से बातचीत। कार्य मांग रजिस्टर की आवेदन फाइल से तुलना तथा उन कामगारों से बातचीत जिन्होंने पिछले तीन महीने में कोई कम नहीं किया है।  समुदाय से बातचीत, गत सामाजिक अंकेक्षण की कतयनही की जाँच।  ग्राम सभा द्वारा पारित कार्य योजना तथा अंतिम किये गए कार्यों का मिलान। शिकायत रजिस्टर की जाँच। समुदाय से बातचीत, गत सामाजिक अंकेक्षण की कतयनही की जाँच।

उपरोक्त समस्त विचारणीय मुद्दों का निराकरण करने लिए सतर्कता एवं जाँच समिति/सामाजिक अंकेशन समिति सभी उपरोक्त दस्तावेज़ों/रिकॉर्ड तहत जाँच को अम्ल में लाएं तो कार्यक्रम कार्यन्वन्य की एक स्प्ष्ट/साफ़ तस्वीर अपने आप उभर कर सामने आएगी जिसे इस मैन्युअल के आगामी अध्याय में दिए गए नमूने के आधार पर रिपोर्ट तैयार करके ग्राम सभा में प्रस्तुत करें तो सोयल ऑडिट एक प्रभावी रूप में लागू किया जायेगा। 

Alloverindia.in Indian Based Digital Marketing Trustworthy Information Platform and Online Blogger Community Since 2013. Digital India A Program To Transform India Digitally Empower Society. Our Mission To Digitize Everything In India Through Alloverindia.in Web Portal. Every Indian State District Wise Distributor Try To Collect Needful Data For Internet Search. Anybody direct to Contact Us By Email: alloverindia2013@gmail.com Also Call At 98162-58406, We Provide Help For You.

Facebook Twitter LinkedIn Google+ Vimeo Skype 

Our Score
Our Reader Score
[Total: 1 Average: 5]

All Over India Website Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.