सर्तकता एवं निगरानी महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी अधिनियम।

0
233
himachal pradesh Village Panchayat act how to work read at alloverindia.in website

सतर्कता एवं निगरनी: सर्तकता एवं निगरानी महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी अधिनियम का एक जरुरी भाग है।  सर्तकता के लिए स्थिनिय पंचायत/गॉव के लोगों को जहाँ ओर काम चल रहा हो सर्तकता समिति में सदस्य लिया जाता है।  सतर्कता का उद्देशय काम में लोगों की भागीदारी और काम की गुवत्ता और प्रगति को देखना है।  जिससे पंचायत के लोगों की कार्य में भागीदारी और अपनेपन की भागीदारी उत्पनं होती है। प्र. निगरानी का क्या मतलब है? उ. निगरानी का मतलब है कि समिति द्वारा चल रहे कामों का अचानक निरिक्षण/चैकिंग करना और देखना कि की काम मनरेगा बदिशा निर्देश के अनुसार हो रहा है या नहीं। प्र. स्थानीय चौकसी एवं निगरानी (वि.एम.सी.) का गठन किस प्रकार किया जायेगा? उ. 1. वि.एम.सी. सदस्यों का चयन ग्राम पचायत द्वारा काम को शुरू करने के लिए बुलाई गई बैठक में किया जाये। ग्राम पंचायत कार्यन्वयन एजेंसी के एक स्टाफ सदस्य द्वारा इस बैठक का संचालन किया जाएगा।

1.वी.एम. सी. में स्थानीय ग्राम पंचायत के समुदाय/लोगों में से चयन किया जाए। वि.एम.सी. में 9 सदस्य हों जिसमें एक तिहाई अनुसूचित जाती/जनजाति तथा एक तिहाई महिला होनी चाहिए। 2.इस समिति में जनता के प्रतिनिधि/रिटायर व्यक्ति/एन.जी.ओ./सामुदायिक मंडलों के सदस्य हों। 3.वी.एम.सी. के आधे सदस्य मनरेगा के कामगारों में से लिए गए हों। 4.वी.एम.सी. सदस्यों का कार्यकाल एक वर्ष है। 5.वी.एम.सी. द्वारा पंचायत में चालू करयतों की नियमित रूप से लगातार निगरानी की जाए। 6. ग्राम पंचयत अथवा काम करवाने वाली एजेंसी की जिमीदारी है की वे सभी जरुरी जानकारी एवं कागजात आधी जाँच एवं समीक्षा के लिए वी.एम.सी. को दें। 7.वी.एम.सी. सभी चल रहे कार्यों, मस्टर रोल, कार्य स्थल सुविधाएँ, कार्य और इस्तेमाल की जा रही सामग्री की गुणवत्ता आदि पर निगांि रखे और सामने आई कमियों को दूर करने के लिए तुरंत सुधारात्मक कार्यवाही करे। 8. वी.एम.सी. अपनी रिपोर्ट कार्यस्थल पर कामगारों के साथ बातचीत करें। 9. सरकारी कर्मचारी वी.एम.सी. के कार्यों में कोई भी दखल अंदाजी नहीं करेंगे। उनका काम केवल वी.एम.सी. द्वारा उनकी रिपोर्ट में बताई गई कमियों को दूर करना है। 10. वी.एम.सी. अपनी रिपोर्ट को ग्राम पंचायत और कार्यक्रम अधिकारी/बी.डी.ओ. को तुरंत कार्यवाही के लिए देगी।

11. वी.एम.सी. अपनी रिपोर्ट को सामाजिक अंकेशन समिति को भी स्किम के कार्यन्यवन अनुमान के लिए प्रस्तुत करें। 12. प्र. वी.एम.सी. के गठन का क्या उद्देश्य है? 13. उ. 1. मनरेगा  रहे कामों में गॉव के लोगों की भागीदारी को सुनिशिचित करना। 14. मरेगा सरकारी अधिकारियों के काम करने के तरीके में पारदर्शिता और जवाबदेही को बढ़ाना। 15. चल रहे कामों की गुणवत्ता सुनिशिचित करना। 16. चल रहे कामों में अगर कोई कमी है तो उसे जाना और ग्राम पंचायत को सुधर के सूचित सूचित करना। 17. मनरेगा अधिनियम में प्रावधानों का सही रूप में निष्पक्ष और जिम्मेदारी चरण में लागु करना। प्र वी.एम.सी. महीने में एक बार बैठक कर ग्राम पंचायत में मनरेगा स्कीम के अंतर्गत चल रहे कामों पर चर्चा करेगी।  इन बैठकों में ग्राम सेवक और तकनीकी सहायक का उपस्थित होना जरुरी है। वी.एम.सी. चल रहे कार्यों की निगरानी करेगी।

प्रगति तकनीकी अनुमानों के अनुसार।

1.वी.एम.सी. गॉव/ग्राम पंचायत में चालू कामों की प्रगति/कार्यन्वयन की अलग-अलग अवस्था पर निगरानी करेगी। 2. वी.एम.सी. यह भी सुनिशिचित करेगी कि कार्य की गुणवत्ता और प्रगति तकनीकी अनुमानों के अनुसार है। 3.कार्यस्थल पर पीने के पानी, छाया, दवा और बच्चों की देखभाल की सुविधाएँ उपलब्ध हैं या नहीं? 4.वी.एम.सी. के द्वारा चालू कामों का अचानक से निरिक्षण किया जाये और कार्यस्थल पर उपलब्ध मस्टर रोल की जाँच की जाए। हजारी द्वारा यह भी देखा जाए कि मस्टर रोल में दी गई जानकारी और वास्तविक उपस्थिति के मिलान जानकारी ठीक है। 5.कार्य के लिए उपलब्ध सामान की मात्रा और गुणवत्ता के व्यवहारिक ज्ञान से जांचा जाए और स्टॉक रजिस्टर को भी जाँच कर मिलान किया जाए। 6. ग्राम पंचायत में रखे गए मनरेगा से संबधित दस्तावेजों और रजिस्टरों को जांचना। 7. ग्राम पंचायत द्वारा वेतन देने की प्रक्रिया एवं वेतन भुगतान रसीद/वाउचरों को जांचना। 8. काम करने वालों को उनके अधिकारों (अध्याय-6) के प्रति जानकारी देना 9.वी.एम.सी. पूरी रिपोर्ट को ग्राम पंचायत कार्यक्रम अधिकारी और ग्राम सभा को प्रस्तुत करें। समिति 5 या 5 सद्श्यों से अधिक की उपस्थिति में रिपोर्ट पर विचार करें।

रजिस्टरों और मस्टर रोल की जाँच

उप्र बताये गए सभी दस्तावेजों, रजिस्टरों और मस्टर रोल की जाँच पर समिति एक रिपोर्ट तैयार करे कि ग्राम सभा में प्रस्तुत की जाए। प्र. वी.एम.सी. द्वारा किन पह्लुयों पर निगरानी राखी जाएगी ? उ. वी.एम.सी. द्वारा समीक्षा किये जाने वाले तथ्य: ग्राम सभा द्वारा मेनी कार्यों एक चयन व् प्रथ्निक्त के अनुसार कार्य करना। कार्यों की तकनीकी एवं लागत अनुमानों की समीक्षा। कार्यस्थल पर मस्टर रोल के रखरखाव की व्यवस्था की समीक्षा। यह सुनिशिचित करना कि सभी कामगारों को देय तथा न्यूनतम मज़दूरी का भुगतान हो रहा है। यह जाँच करना कि मज़दूरी का भुगतान 15 दिन के समय रहा है। तकनीकी आधार पर कार्यों को जाँच और गुणवत्ता का आकलन करना। यह देखना कि कार्यस्थल पर कामगारों के लिए आवश्यक सुविधाएँ हों। ख़रीदे हुए सामान का समय पर भुगतान हो रहा है या नहीं। काम में क्या शिकायतें आई और किस तरह उन शिकायतों को निपटाया गया। यदि नहीं तो अब उन शिकायतों की क्या स्थिति है। ग्राम पंचायत स्तर पर कार्यों के रिकॉर्ड की समीक्षा करना तथा कमियों पर जानकारी देना। ग्राम पंचायत के सुचना पट एवं कार्यस्थल पर स्वंय प्रकशित की जाने वाली सूचनाओं को देखकर अपनी रिपोर्ट देना। प्र. वी.एम.सी. के द्वारा दिए जाने वाली रिपोर्ट कसी हो? उ. वी.एम.सी. की रिपोर्ट दिए गए फ्रेम/प्र्प्र के अनुसार हो:-

वी.एम.सी. द्वारा निरिक्षण

गॉव का नाम, ग्राम पंचायत, ब्लॉक का नाम, वी.एम.सी. द्वारा निरिक्षण की तारीख, कार्य का नाम, कार्य शुरू करने की तारीख, कुल स्वीकृत राशि, कुल जरी की गई राशि, वी.एम.सी. को निरिक्षण के समय कोण-कोण से कार्यकर्ता कार्य स्थल पर मिले: वार्ड पंच (मटर रोल के रख रखाव हेतु), ग्राम रोजगार सेवक, ग्राम पंचायत के प्रधान और सदस्य, तकनीकी सहायक, अन्य कोई प्रतिनिधि, कोई नहीं, क्या ग्राम पंचायत द्वारा कार्यों का चयन ग्राम सभा में किया गया है? कार्यस्थल पर मस्टर रोल का रखरखाव करने वाले पूछ भी क्या रोल पर हाजरी लगा रहे हैं? हाँ /नहीं, क्या वार्ड निम्नलिखित कार्यों को करने में सक्षम है या नहीं? मपना/पैमाइश करना, प्राथमिक/शुरूआती दवा का प्रबंध, कार्यस्थल पर मिर्मान सामान की देख रेख, अन्य, यदि कुछ हो तो, मेट के तौर पर कार्यरत वार्ड पूछ ने क्या कोई ट्रेनिंग ली है या नहीं, क्या वार्ड पंच माप/पैमाइश लेने में समर्थ है? क्या पंच के पास निम्नलिखित उपकरण उपलब्ध है। पैमाइश पोल, मापक फीता, कैलकुलेटर, मापक पुस्तिका, मस्टर रोल क्या मस्टर रोल कार्यस्थल पर वी.एम.सी. द्वारा निगरानी के समय उपलब्ध था? अगर नहीं तो मस्टर रोल कहाँ है?

ग्राम रोजगार सेवक

ग्राम रोजगार सेवक के साथ, ग्राम पंचायत कार्यलय में, कार्यक्रम अधिकारी/बी.डी.ओ. के पास, तकनीकी सहायक के साथ, कार्यस्थल पर कोई पक्का मस्टर रोल नहीं, कोई जानकारी नहीं। अगर है तो मस्टर रोल पूरा था (निगरानी के दिन की उपस्थिति समेत) कितने मज़दूर कार्य स्थल पर कार्य कर रहे थे? मस्टर रोल के अनुसार। असल में हाज़िर, 1. ग्राम रोजगार सेवक द्वारा कभी मस्टर रोल की जाँच परख ली गई। हाँ/नहीं 2. मस्टर रोल पर मज़दूरों से हस्ताक्षर या बाएं हाथ के अंगूठे का निशान लिया गया है या नहीं? 3. क्या मस्टर रोल कार्यक्रम अधिकारी/बी.डी.ओ. द्वारा हस्ताक्षरित है या नहीं? 4. मस्टर रोल पर अनूठा नंबर व पंचायत कोड दर्ज़ है या नहीं? 5. क्या कर्यस्थल पर रंगीन मस्टर रोल नरेगा होलो ग्राम के साथ प्रयोग में लाया जा रहा है या नहीं? 6. महिला और पुरुष का कार्यस्थल पर क्या अनुपात।

कामों की पैमाइश

पुरुष, महिला (जॉब कार्ड) क्या जॉब कार्ड में कामगार का नाम दर्ज़ है या नहीं, क्या जॉब कार्ड कामगारों के पास है या नहीं, हाँ, नही, कुछ के साथ 3. अगर नहीं तो किस पास है? 1.ग्राम रोजगार सहायक 2. सहायक/पंचायत सचिव 3. प्रधान 4. ग्राम पंचायत 5. मज़दूरों 6. पता नहीं 7. अगर हाँ तो क्या जॉब कार्ड पर भी अभी तक की साडी जरुरी जानकारी दाल दी गई है या नहीं 2.कितने कामगारों ने समूह में आम करने के लिए आवेदन किया है? संख्या। 3. कितने कामगारों ने माँगा या आवेदन के बिना काम पाया है। 1.कामों की पैमाइश2.क्या मज़दूर यह कि उन्हें न्यूनतम मज़दूरी पाने के लिए कितना काम करना है। 3. कार्य पूरा होने के बाद तकनिकी सहायक/इंजीनियर को पैमाइश करने में कितने दिनों का समय लगता है। 4. क्या पैमाइश बुक कार्यस्थल पर किय हुए कामों की असल स्थिति दर्शा रही है। 5. मज़दूरी 6. चालू काम के आखिरी भुगतान के बाद कितने दिन बीत चुके हैं। 7.कितने मज़दूर को निर्धारित मज़दूरी दर से कम मज़दूरी मिली है। 8.क्या पुरुषों और महिलाओं को बराबर दर से मज़दूरी दी गई है। 9. क्या मज़दूरी बचत खाते द्वारा दी गई है या नकद में दी गई है। 10. नकद भुगतान क्यों? 11. क्या मज़दूरों द्वारा मज़दूरी लेने के बाद मस्टर रोल पर हस्ताक्षर किय गए है? 12. क्या निम्न मदों के लिए अतिरिक्त भुगतान किया गया है? 13. क.) यात्रा भत्ता  ख.) ओजार/उपकरण आदि तेज करने के लिए ग.) अन्य 14. क्या मज़दूरों की मज़दूरी भुगतान संबधित निम्नलिखित में से कोई भुगतान शिकायत है?

कार्यस्थल की सुविधाएँ

मज़दूरी भुगतान में देरी, न्यूनतम तय राशि से कम दर पर भुगतान, डाकघर या बैंक में खाता चलाने में समस्या, अन्य, भुगतान कम किया गया, कार्यस्थल की सुविधाएँ: क्या निगरानी के दौरान निम्नलिखित सुविधाएँ कार्यस्थल पर उपलब्द थी:- आराम के लिए छाया, पीने का पानी शुरूआती देखभाल के लिए दवा, बच्चों की देख रेख की सुविधा, क्या कार्यस्थल पर नागरिक जानकारी बोर्ड है : हाँ/नहीं, अगर है तो क्या नागरिक जानकारी बोर्ड पर निम्नलिखित जानकारी दी गई है: काम कुल स्वीकृत राशि, मज़दूरी के लिए स्वीकृत राशि, न्यूनतम मज़दूरी लेने हेतु कितना काम जरुरी है। सामान की कीमत, कितनी सामान/सामग्री की आवश्यकता है। सामग्री का उपयोग, क्या इस काम में किसी सामग्री का इस्तेमाल हुआ है? अगर हाँ, तो क्या आप के द्वारा कार्यस्थल पर निम्न गुणवत्ता की सामग्री देखी गई। अगर हाँ तो ब्यौरा।

रजिस्टरों का रख रखाव

क्या इस काम में निर्धारित मापदंडों के अनुसार सामग्री का इस्तेमाल किया जा रहा है? अगर नहीं . क्या स्टोर में बची हुई सामग्री स्टॉक रजिस्टर से मिलान करती है? अगर नहीं तो क्यों . रजिस्टरों का रख रखाव, क्या ग्राम पंचायत में निम्नलिखित रजिस्टर उपलब्ध है? पंजीकरण एवं रोजगार रजिस्टर, निरीक्षण रजिस्टर, अस्ति/परिसम्पत्ति रजिस्टर, शिकायत रजिस्टर, मस्टर रोल प्राप्ति रजिस्टर, कार्य मांग रजिस्टर, स्टॉक रजिस्टर, बेरोजगारी भत्ता रजिस्टर, मस्ट रोल जरी रजिस्टर, क्या सभी रजिस्टरों में जानकारी पूरी दर्ज़ है:- क्या कोई पंजीकृत परिवार है जिन्हे जॉब कार्ड नहीं दिया गया? यदि हाँ, तो क्या प्रधान या बी.डी.ओ. द्वारा उनका निपटारा 15 दिनों में कर दिया गया है? परिसम्पत्ति रजिस्टर के अनुसार ग्राम पंचायत/गॉव में कितने काम शुरू है। कितने कार्य अभी तक पुरे नहीं हुए है। (परिसम्पत्ति रजिस्टर के अनुसार शुरु हुए, पर पुरे नहीं हो पाए) नाम प्रकार:-

मनरेगा की जानकारी

क्या भुगतान लिए गए मस्टर रोल की कोई प्रति पंचायत में उपलब्ध ह? क्या मनरेगा की जानकारी ग्राम पंचायत के सुचना पट पर घोषित की गई है? क्या आपको मनरेगा में ठेकेदार द्वारा  करवाए जाने के कोई सबूत या कोई शिकायत मिली है? क्या आपको मनरेगा में मज़दूरी में मज़दूरों की जगह मशीन के इस्तेमाल की शिकायत या सबूत मिले, अगर हाँ तो क्या? कार्य के बारे में आपके क्या विचार है जो आपको देखा गया है। कार्य के महत्व, उपयोग और बनाई गई सम्पत्तियों की गुणवत्ता पर आपके क्या विचार है: क.) बहुत लाभदायक ख.) कुछ लाभदायक ग.) जय लाभदायक घ.) कोई उपयोग नहीं ड.) अनुमान लगाना कठिन अन्य कोई भी सुचना/जानकारी।