18 साल पुरे होने से पहले ही कर दी गई लड़की की दो बार शादी, सौंखर।

0
57
alloverindia.in crime in sounkhar
sounkhar crime

Page No.1

We have already Submitting this complaint copy by Hand for SDM sir Ghumarwin and by Post For SHO Bharari and DSP Office Ghumarwin. Because it is required very urgent.

                                        Complaint Application for Multiple Crimes By Multiple Peoples, Who are involve in this case Nilama Devi W/O Hosiyar Sing and Desh Raj Nick Name (Sonu).

महिला मंडल सौंखर रजिस्टर्ड नंबर। 94/117

हम महिला मंडल के सदस्य माँग करते हैं की 24 घण्टे के भीतर सड़क को खुलवाकर नीलमा देवी और उसके पति को गिफ्तार कर उसके द्धारा किये गए अपराधों पर कार्यवाही की जाए।

शॉर्ट नोट: हमारी माँग है कि इस केस के अंतर्गत होने वाली कर्यवाही उच्च अधिकारियों के समक्ष करवाई जाए और मीडिया वालों को भी यहाँ पर बुलाया जाए और नीलमा देवी द्धारा आपराधिक गतिविधियों को सार्वजनिक किया जाए और सबसे अहम नीलमा देवी और होशियार सिंह के खिलाफ बाल अपराध को लेकर अरेस्ट वॉरेंट निकाला जाए। और तुरंत हिरासत में लेकर कार्यवाही शुरू करवाई जाए। नीलमा देवी के दामाद ने जो नये घर की निम्ब सड़क की तरफ 2 से 3 फिट बड़ा दी है लोगों के बार बार विरोध करने पर भी “सोनू” ने कोई सुनवाई नहीं की। पंचायत भी इसमें असफल साबित हुई।

सारे अपराधों का विवरण यहाँ पर दिया गया है।  

श्रीमान जी बड़े अब्सोस के साथ आपको बताना पड़ रहा है की आज भी गाँव में ऐसे अपराध होते हैं जिन्हें गाँव में ही दवा दिया जाता है और ऐसे अपराध करने वाले लोगों के हौसले और भी बुलन्द हो जाते हैं। परन्तु अब पानी सिर के ऊपर से जा रहा है। और अब इससे ज्यादा सहन नहीं होता मैं जो आरोप आपको लिखित रूप में दे रहा हूँ वो सारे आरोप पूरी जिम्मेदारी के साथ दे रहा हूँ। मेरी आपसे विनती है की आप मेरे द्धारा लगाये गए आरोपों को गहरी जांच पड़ताल के साथ अपराधी को इसकी सजा दिलवायेंगे। जब तक डिपार्टमेंट मेरे द्धारा लगाये गए आरोपों को गहरी जाँच करके इसका निष्कर्ष नहीं निकालते तब तक हमें इसी तरह मुश्किलों का सामना करना पड़ेगा। मेरी आपसे विनम्र प्रार्थना है की आप कृपा करके इस शिकायत पत्र को ध्यान से पढ़कर अपराधी के प्रति जल्द से जल्द कार्यवाही करेंगे।

गॉव सौंखर में श्रीमती नीलमा देवी जिनके पति का नाम श्री होशियार सिंह है इन्होंने वो काम कर दिया जिसे बाल अपराध कहा जाता है इन्होंने अपनी दूसरी लड़की की 18 साल से कम उम्र में ही 2 बार शादी कर दी और गॉव में कहती है कि मेरा क्या कोई बिगाड़ लेगा। जब इस औरत ने पहली बार दूसरी लड़की की 18 साल से कम उम्र में शादी की तो भी यह बात गॉव में और पंचायत में ही दबा दी गयी। शादी के बाद पंचायत से भी नाम काटा जाता है परन्तु पंचायत में भी इस बाल अपराध को उजागर नहीं किया। जहाँ पहली बार शादी हुई उन्होंने यह शादी कैसे की, क्या उन्होंने यह पता नहीं किया कि इस लड़की की उम्र क्या है परन्तु शादी के कुछ ही महीनों के बाद इसने वहां सब कुछ छोड़ दिया और अपने मायके सौंखर में आ गयी। फिर इसकी माँ ने दोबारा इसकी दूसरी शादी 18 साल से कम उम्र में करवा दी। जहाँ पर इसकी दूसरी शादी हुई उन लोगों ने भी इसकी उम्र जानने की कोशिश नहीं की क्या, “ये एक बड़ा सवाल है”? पंचायत से फिर शादी होने के बाद वहाँ से नाम काटा जाता है परन्तु इस अपराध को फिर दबा दिया गया। श्रीमती नीलमा देवी आज भी सीना ठोक कर बोलती है अभी एक बार और शादी कर दूंगी अगर टूट जाएगी तो। मेरा क्या बिगाड़ लेगा कोई। यहाँ से इस अपराध को करने के बाद श्रीमती नीलमा देवी हौसले बुलंद होते हैं।

इसमें हम सभी गांव के लोग भी गलत हैं सभी को पता है कि यह अपराध कोई छोटा – मोटा नहीं है। गॉव वालों को डर है कि अगर हम लोग नीलमा देवी के खिलाफ बोलते हैं तो नीलम देवी भरी गाली – गलोच करती है। गॉव के सभी लोग

Page No.2

इसी बात से डरते हैं जैसे ठीक किसी फिल्म में होता है। अगर यह अपराध किसी शहर में हुआ होता तो मीडिया वाले इस अपराध को उछाल देते और पुलिस कर्मचारी इस औरत को उसी समय गिरफ्तार कर लेते।

अकेली नीलमा देवी सारे गॉव के लोगों के लिए आये दिन कोई न कोई मुश्किल खड़ी कर देती है इसमें सबसे बड़ी मुश्किल यह है कि गॉव में कुछ साल पहले सड़क निकाली गयी जब लोगों ने अपनी अपनी थोड़ी बहुत जमीन देकर सड़क निकलवा दी जिसमे नीलमा देवी की भी थोड़ी सी जमीन लगी और 6,00,000 रूपये सरकार की तरफ से दिए गए तब जाकर यह सड़क निकाली गयी और इन कुछ एक सालों में नीलम देवी ने 10 बार सड़क रोक दी। जिससे लोगों को हर बार नीलमा देवी से बहस बाज़ी करके सड़क खुलवानी पड़ी कई बार बीमार व्यक्ति को ले जाते हुए भी नीलमा देवी से बहस बाज़ी करके सड़क खुलवानी पड़ती है।

दिनांक 25.08.2014 मेरे साथ जितेंदर शर्मा के साथ सड़क रोकने और नीलम देवी के द्धारा जूठे आरोप लगाने के मुददे पर पुलिस स्टेशन भराड़ी में समझौता हो चूका है उस समय भी मैं इसके साथ समझौता करने में सहमत नहीं था परन्तु मेरे साथ आये हुए लोगों ने समझौता करना ही बेहतर समझा कि चलो गॉव की बात है तो समझौता करना ही बेहतर है। इस मुद्दे पर मैं पहले ही परेशान था और इसी चलते मैंने DSP ऑफिस बिलासपुर में बात की थी और उन्होंने कहा कि आप अपनी पूरी शिकायत लिखित रूप में अपने नज़दीकी पुलिस स्टेशन में जमा करवाएं। DSP ऑफिस बिलासपुर में मुझे इसलिए बात करनी पड़ी क्योंकि नीलमा देवी मेरे ऊपर कोई और गलत आरोप न लगा दे तो इसीलिए मैं अपना बचाव करने के लिए इंटरनेट से भराड़ी पुलिस स्टेशन का नंबर ढूँढा परन्तु नहीं मिला और उस समय मुझे कोई दूसरा रास्ता नहीं दिखा लेकिन मुझे DSP ऑफिस बिलासपुर का नंबर मिला और मैंने वहां पर बात की और उन्होंने कहा कि आप अपनी पूरी शिकायत लिखित रूप में अपने नज़दीकी पुलिस स्टेशन में जमा करवाएं। ताकि इन सभी आरोपों पर जल्द से जल्द सुनवाई की जा सके।

बार बार नीलमा देवी द्धारा सड़क का रोका जाना, इससे हमें बहुत मुश्किल होती है निजी स्वार्थ के लिए नीलमा देवी बार बार सड़क रोक देती है जोकि सामाजिक हित में नहीं है। आज दिनांक 21.10.2015 मुझे अपने घर के किसी काम के लिए बाहर जाना पड़ा लेकिन सड़क में नीलमा देवी ने पत्थर लगा रखे थे जाते समय मैंने वह पत्थर उठाकर साइड में फैंक दिए और चला गया। आते समय नीलमा देवी का पति जोकि पिछले एक साल से बीमार चल रहा है उसने दोबारा पत्थर लगा दिए जब मैंने उसको पत्थर हटाने को कहा तो गुस्सा आना तो स्वाभिक बात है लेकिन होशियार सिंह मुझे कहता है कि तू मुझे गाली मत दे और मुझे मारने आता है इस तरह के आरोप लगाना नीलम देवी और उसके पति होशियार सिंह की आम बात है। मैंने सड़क में पत्थर लगाने और होशियार सिंह के सड़क में पत्थरों के ऊपर बैठकर फोटो खींची जोकि अपने शिकायत पत्र के साथ जोड़ी है सड़क में बैठकर होशियार सिंह कहता है कि तू मेरे ऊपर गाड़ी चढ़ा दे। दूसरे आदमी को फ़साने के लिए इस तरह के आरोप लगाते हैं इन्हीं आरोपों की वजह से लोग नीलमा

Page No.3

देवी से बहस बाज़ी नहीं करते, अगर आप नीलमा देवी का पिछला रिकॉर्ड देंखे तो गॉव के ऐसे बहुत लोग हैं जिनके ऊपर यह पहले भी कई उलटे आरोप लोगों पर लगा चुकी है इन आरोपों के प्रति लोगों ने इसकी शिकायत कई बार पुलिस स्टेशन भराड़ी में की है। अभी हाल ही में श्रीमती तृप्ता देवी ने इसके खिलाफ शिकायत दर्ज़ करवाई थी।

मेरी आपसे विनती है कि आप इस औरत का पिछला सारा रिकॉर्ड देंखे कि गॉव के लोगों ने कितनी बार शिकायतें दर्ज़ की हैं। जिस अपराधी के प्रति इतनी सारी शिकायतें दर्ज़ हों उसके प्रति कड़ी से कड़ी कार्यवाही बिना किसी हमदर्दी से होनी चाहिए।

नीलमा देवी का पति होशियार सिंह किस तरह से सड़क के बीच में बैठा है उसकी फोटो है।

नीलमा देवी द्धारा किये गए अपराधों की सूची और कड़ी से कड़ी कार्यवाही की माँग:

  1. बाल विवाह अपराध: इस अपराध के अंतर्गत हम चाहते हैं कि खुफिआ तरीके से जाँच पड़ताल की जाये और नीलमा देवी के द्धारा किये गए अपराध को सार्वजानिक किया जाये और कड़ी से कड़ी सजा दिलवाई जाये। यह एक बहुत ही चालाक औरत है यह अपनी बातों में दूसरों को फांस लेती है। गॉव के सभी लोग इसके प्रति तब बोलेंगे जब पुलिस द्धारा कोई कड़ा कदम उठाया जायेगा वरना इसे किसी का डर नहीं। नीलमा देवी द्धारा किया गया यह अपराध हमारे समाज

Page No.4

को एक गलत दिशा की ओर ले जा रहा है अगर समय रहते इस अपराध से पर्दा न हटाया गया तो लोगों में जागरूकता नहीं आएगी।

  1. निजी स्वार्थ के लिए बार बार सड़क को रोकना और समाज में दूसरे लोगों को परेशानियां खड़ी करना: अब हमारी गाड़ी नीलमा देवी और उसके पति ने जहाँ पत्थर लगा रखें हैं वही पर बीच सड़क में खड़ी है जब मैंने शाम को 7 बजे के करीब गाड़ी को वहां से पीछे हटाना चाहा तो अब गाड़ी स्टार्ट नहीं हो रही है अगर इस बीच रात में गाड़ी में कोई दूसरी मुश्किल आ जाये तो इसकी जिम्मेबारी भी नीलमा देवी और होशियार सिंह की होगी। सड़क निकाली गयी है तो लोगों की सुख सुविधाओं के लिए। पिछले 1 सप्ताह से सड़क में पत्थर लगाये हुए हैं अगर कोई स्त्री गर्व से है तो उसे हॉस्पिटल कैसे लेके जाएँ, अगर कोई व्यक्ति बीमार है तो उसे हॉस्पिटल कैसे लेके जाएँ। नीलमा देवी का पति खुद बीमार है। हमारी आपसे विनती है कि इस सड़क को 24 घटों के भीतर खुलवाया जाये और इसके लिए नीलमा देवी और उसके पति होशियार सिंह को निजी स्वार्थ के लिए सड़क को रोकना, इसके लिए इन्हें  बड़े मूल्य का जुर्माना लगाया जाये ताकि आने वाले समय में कोई दूसरा व्यक्ति इस तरह की हरकत ना करे।
  2. हरासमेंट (Harassment): नीलमा देवी द्धारा किये गए बाल विवाह अपराध और सड़क को बार बार बंद करना, इससे लोगों को हरासमेंट (Harassment) हो रही है पर नीलमा देवी आये दिन कोई ना कोई नई मुसीबत खड़ी देती है। हमारी आपसे विनती है कि बाल विवाह अपराध के प्रति इस औरत को हिरासत में लिया जाये और कड़ी से कड़ी क़ानूनी कार्यवाही करवाई जाये। नीलमा देवी ने 18 साल से कम उम्र में अपनी बेटी की 2 बार शादी की, चाहे यह शादी उसने किन्ही मज़बूरियों में की हो या जैसे भी की हो। यह एक समाज की दिशा को भ्रमित करने वाला अपराध है इस अपराध की जल्द से जल्द कड़ी और गहरी कार्यवाही करवाई जाये और इस तरह के लोगों की जगह जेल में होनी चाहिए।
  3. किसी भी मुद्दे को लेकर अगर नीलमा देवी से या होशियार सिंह से बहसबाज़ी करें तो ये मुनासिब नहीं क्योंकि ये दोनों ही बहसबाज़ी के समय जूठे आरोप लगा देते हैं अब हमें पुलिस डिपार्टमेंट की कड़ी से कड़ी कार्यवाही की जरुरत है। मैंने इसके बाल अपराध के मुद्दे को लेकर Women & Child Department में भी बात की थी उनका कहना था कि इसकी सुचना लिखित रूप में अपने नज़दीकी पुलिस स्टेशन में जमा करवाएं और प्रेस को भी सूचित करें।

अगर नीलमा देवी को अपने स्वार्थ को पूरा करने के लिए सड़क को बंद करके लोगों के लिए परेशानियाँ देती हैं तो क्या उसने पंचायत से लिखित तौर पर इसकी इजाजत ली है की मैं सड़क बंद करना चाहती हूँ। खुद पंचायत मेंबर का घर गाँव में हैं। परन्तु इस औरत को ना तो पंचायत का डर है ना ही पुलिस का। जिस औरत के प्रति पहले ही इतनी सारी शिकायते थाने में जा चुकी हैं फिर वो एक सही इन्सान कैसे हो सकती है।

alloverindia.in crime in sounkhar
Sounkhar Crime

Page No.5 

अगर आप सीधे गाँव के लोगों से पुछोगे की क्या इसने सही में 18 साल से कम अपनी लड़की की 2 बार शादी की है तो मुझे नहीं लगता कोई बता पायेगा इसके लिए आपको मैं समझता हूँ की Sting Operation चलाना पड़ेगा। Sting Operation से और भी कई बाते ऐसी हैं जो सामने आएँगी जिनके बारे में मैं इस शिकायत पत्र में नहीं लिख सकता की ये औरत क्या क्या करती है। अपराध तो अपराध ही है फिर चाहे वो जानबूझ कर किया जाए या मज़बूरी में किया जाए अगर अपराधी लोगों पर कार्यवाही नहीं की जाए और उसके अपराध की सजा ना दी जाए तो लोगों के लिए मुसीबत बन जाती है और यही सब यहाँ पर हो रहा है।

  1. नीलमा देवी द्धारा सामाजिक अधिकारों का हनन।: इस बात में कोई आसंका नहीं है की नीलमा देवी द्धारा आजतक केबल सामाजिक अधिकारों का हनन किया गया है। बाल विवाह जैसा अपराध और सरकार द्धारा 6,00,000 लाख रुपए की लागत से सौंखर में निकाली गई सड़क को अनेकों बार रोका गया। जिससे लोगों को केबल परेशानियाँ ही मिली हैं। इस औरत को कड़ी से कड़ी सजा की माँग और जुर्माने के तौर पर कम से कम 30,000 रुपए बसुला जाए ताकि आने वाले समय में ये कोई भी अपराध करने से पहले 100 बार सोचे।

हम लोग यह जानकारी देना उचित समझते हैं कि किस तरह नीलमा देवी ने बाल विवाह अपराध को अंजाम दिया। और इसका कारण क्या है। और आज तक इसका बचाब कैसे होता रहा। जितना हम जानते हैं इसके बारे में आपको जानकारी दे रहे हैं इससे अधिक जानकारी नीलमा देवी खुद देगी जब इसके ऊपर क़ानूनी कार्यवाही की जाएगी। देश राज उर्फ़ सोनु जो की इसका दामाद बना है अक्सर इसका आना जाना नीलमा देवी के घर लगा रहता था। इसी उपरान्त देश राज उर्फ़ सोनु के नीलमा देवी की बड़ी बेटी शालू के साथ शारीरिक सम्बद्ध बन चुके थे जिसके चलते गाँव के गुटों में बात चलती थी। और गाँव का माहौल ख़राब हो रहा था और बड़ी बेटी शालू प्रेग्नेंट हो चुकी थी परन्तु अभी वह 18 साल की नहीं हुई थी 18 साल की होते ही नीलमा देवी ने देश राज उर्फ़ सोनु के ऊपर दवाब बनाया और देश राज उर्फ़ सोनु “शालू” से शादी करने के लिए तैयार हो गया।

देश राज उर्फ़ सोनु की शालू के साथ शादी होने के बाद ठीक 15 दिन बाद इनके बेटी पैदा हुई। अब देश राज उर्फ़ सोनु का टारगेट था दूसरी लड़की प्रियंका के मौज मस्ती करना दूसरी लड़की भी कुछ समय बाद देश राज उर्फ़ सोनु से प्रेग्नेंट हुई और आनन फ़ानन में नीलमा देवी को अपनी दूसरी लड़की का भी अवॉर्शन करवाना पड़ा जिससे गाँव के गुटों में तरह तरह की बातें चली और सभी लोग केबल इस होने वाले तमाशे को देख सकते थे कुछ नहीं कर सकते थे परन्तु अवॉर्शन के बाद नीलमा देवी ने अपनी दूसरी लड़की प्रियंका की 18 साल से पहले ही शादी कर दी पर यह शादी सफल नहीं हुई और प्रियंका ने अपना ससुराल छोड़ दिया फिर अपने मायके सौंखर लौट आई। परन्तु अब शालू और प्रियंका दोनों देश

Page No.6

राज उर्फ़ सोनु के साथ रहने लगी जिससे लोगों में फिर से तरह तरह की बातें होने लगी। प्रियंका के साथ देश राज उर्फ़ सोनु के शारीरिक संबध वैसे ही चलते रहे। ये होना तो स्वभाबिक था। नीलमा देवी ने फिर कोई रास्ता निकाला और दोवारा 18 से कम प्रियंका की दूसरी शादी करवा दी। गाँव के लोगों से लेकर पंचायत तक कोई कुछ नहीं कर पाया। क्युंकि लोगो का कहना है की इसकी किसी पुलिस अधिकारी के साथ जान पहचान है लोगो को यही डर था और है की हम लोग इसके खिलाफ कुछ नहीं कर सकते अब वो कौन से पुलिस अधिकारी हैं वो तो नीलमा देवी ही बता सकती है। हमारी आपसे विनती है की आप इसके फ़ोन की पूरी जानकारी इकठी करें ताकि इस अपराध से पर्दा उठाया जा सके। हमारी आपसे विनती है की इसको घर से बाहर जाने की बंदिश लगाई जाए ताकि यह अपने किये हुए अपराधों के प्रमाणों के साथ कोई छेड़ छाड़ ना सके। और इसमें पंचायत भी इसी के साथ थी पंचायत को सब कुछ पता होते हुए भी केबल इसी का साथ दिया। पंचायत ने भी नीलमा देवी के अपराध को उजागर नहीं किया। इन सब तथ्यों की जानकारी आपको खुद नीलमा देवी दे पायेगी।

नीलमा देवी का पति होशियार सिंह काफी अरसे से बीमार चल रहा है जब भी अपने निजी स्वार्थों की पूर्ति के लिए नीलमा देवी सड़क में पत्थर लगाती है तो लोगों से बहस बाजी करने के लिए अपने पति होशियार सिंह को आगे कर देती है और खुद कहीं चली जाती है बाद में आने पर गन्दी गन्दी गालियां देने लगती है। इसके पति से जब बहस बाजी होती है तो होशियार सिंह अल्जाम लगाने लगता है और कहता है की मै बीमार हूँ और मुझे कुछ हो गया तो हमें फसायेगा। एक तो गलती ऊपर से सिन्हा जोरि हम लोग इनसे तंग आ चुके हैं और पुलिस डिपार्टमेंट से गुजारिश करते हैं की इनके ऊपर किसी भी प्रकार की हमदर्दी ना दिखाए और कड़ी से कड़ी कायवाही की मांग करते हैं।

देश राज उर्फ़ सोनु द्धारा सामाजिक अधिकारों का हनन।

देश राज उर्फ़ सोनु जो की सौंखर गाँव का है और नीलमा देवी का दामाद है। देश राज उर्फ़ सोनु के घर के आँगन से होकर सड़क गुजरती है इसने अपना पुराना मकान उखाड़ा और सड़क की तरफ पुराने मकान से आगे 2 से 3 नए घर की निम्ब रखी यहाँ पर एक बड़ा मोड़ है जिससे गाड़ी को ठीक ढंग से मोड़ा नहीं जा सकता अगर इन्हे पुराने घर को उखाड़ कर नया घर सड़क की तरह आगे करके बनाना था तो जब सड़क निकाली गई थी उस समय क्यों नहीं बताया सड़क पहले से ही तंग है इसने और भी तंग कर दी। गाँव के लोगों द्धारा इसका विरोध बार बार किया गया परन्तु देश राज उर्फ़ सोनु अकड़ कर बार बार यही कहता है मैंने घर आगे करके ही बनाना है जो करना कर लो पंचायत इन समस्याओं का समाधान करने में असफल हुई है। हमारी DC MAM BILASPUR, SDM GHUMARWIN  और DSP GHUMARWIN AND SHO BHARARI सबसे निबेदन है

Page No.7

की देश राज उर्फ़ सोनु के द्धारा उत्पन की गई यह समस्या, इसका समाधान किया जाए और इनका घर जहाँ पुरानी जगह था वही पर बनाने का आदेश जारी किया जाए। निजी स्वार्थ के लिए सामाजिक अधिकारों का उलंघन, को अंजाम दिया इसके लिए इसके ऊपर क़ानूनी कार्यवाही की जाए और इसको जुर्माना लगाया जाए।

आज दिनांक 21.10.2015 को मुझे अपने छोटे भाई की पत्नी को लेकर हॉस्पिटल जाना था जो की प्रेग्नेंट है और इसी महीने उसके बच्चा होने वाला है परन्तु जब मैं घर से निकला तो गाँव में सड़क के बीच नीलमा देवी ने कम से कम 12 से 15 पत्थर लगा रखे थे और यह पत्थर पिछले 1 हप्ते से लगे हैं। मैंने वो हटाये और किनारे पर फैंक दिए। जब मैं वापिस आया तो होशियार सिंह ने फिर से पत्थर लगा दिए थे और सड़क में आकर बैठ गया। थोड़ी से बहस बाजी हुई और मैने वही पर गाड़ी खड़ी कर दी।

जब मैं सुबह जा रहा था उसी समय गाँव में एक औरत का VP ज्यादा होने की बजह से उसे चक्र आ गया और वह बेहोश हो गई। और गाँव की औरतों ने उसे हॉस्पिटल ले जाना चाहा परन्तु सड़क में पत्थर होने की बजह से उस औरत के लिए दूसरी गाड़ी मँगवानी पड़ी तब जाकर उसे हॉस्पिटल पहुँचाया गया। नीलमा देवी के यह अत्यचार अब और सहन नहीं होते।

22.10.2015 को निचले सौंखर से जीत राम जी ने अपने घर का काम लगाया हुआ है उसके लिए जीत राम ने सैटरिंग का ट्रैक्टर मँगवाया इसके बाबजुद जब की नीलमा देवी ने सड़क को बंद कर रखा है। जीत राम ने हमारे घर आकर सड़क से गाड़ी हटाने को कहा काफी बहस बाजी हुई की सड़क में तो पत्थर रखे हुए हैं परन्तु नीलमा देवी ने ट्रैक्टर जाने दिया खुद कहती है की अगर मेरे दामाद की गाड़ी आँगन तक नहीं जाएगी तो मैं आगे भी किसी की गाड़ी नहीं जाने दूँगी।

महिला मण्डलीय सदस्यों की माँग है की सबसे पहले 24 घंटो के भीतर सड़क को खुलवाया जाए और मौके पर ही नीलमा देवी और उसके पति की बाल विवाह के अपराध में हिरासत में लिया जाए और इसके लिए क़ानूनी कार्यवाही शुरू की जाए। हमें कानून पर पूरा भरोशा है और हमें उम्मीद है की कानून अपराधी को उसकी सजा जल्द से जल्द दिलवाएगा। धन्याबाद।

1st Copy For DSP Ghumarwin=========

2nd Copy For SDM Ghumarwin==============

3rd Copy For DC Bilaspur======================

4th Copy For SHO Bharari==========================