विपक्षी कांग्रेस तीन तलाक विधेयक पर राज्य सभा में क्यों अटकी Read DNA

0
78
Opposition Congress Stuck On Triple Talaq Legislation In Rajya Sabha

यह सभी जानते हैं की लोक सभा में विपक्षी कांग्रेस दल और सक्रीय बीजेपी दल के सभी नेताओं ने जब तीन तलाक के विधेयक को अमली जामा पहना दिया तो फिर विपक्षी कांग्रेस दल राज्य सभा में अड़ंगा क्यों लगा रहा है| हमें इस खबर की तह तक जाना होगा| विपक्षी कांग्रेस दल इस समय पूरी तरह से बौखला चूका है और जब किसी के दिन अच्छे नहीं होते तो दिमाग, राजनितिक दलों की रणनीतियां भी काम नहीं करती| कुछ ऐसा ही हो रहा है विपक्षी कांग्रेस दल के साथ, मानो सारे भारत वर्ष के लोगों ने कांग्रेस पार्टी से मुँह फेर लिया हो| और यह सच भी है| हाल ही में गुजरात और हिमाचल में कांग्रेस पूरी तरह हार चुकी और इन्हें अब बीजेपी पार्टी को घेरने के लिए कोई मुद्दा नहीं मिल रहा इसलिए ऐसे छोटे मोटे मुद्दों पर दिखावा कर रही है|

तीन तलाक का विधेयक जब लोक सभा में पारित हो गया तब सभी टीवी चैनल वालों ने इसको ब्रैकिंग न्यूज़ बना दिया कुछ ही मिनटों में खबर इधर उधर फैल गई सोशल मीडिया पर यह खबर धडले से चलने लगी| टीवी चैनल वालों ने मुस्लिम महिलाओं ने विचार जानने की कोसिस की तो उन्होंने मोदी की वाह वाही करना शुरू कर दिया सभी महिलाओं ने मोदी सरकार की जमकर तारीफ की वस फिर क्या इसी वाह वाही की वजह से कांग्रेस बौखला उठी और उन्हें यह वाह वाही हजम नहीं हो रही क्योंकी कांग्रेस को लगा इससे तो कांग्रेस पार्टी का मुस्लिम वोट ख़त्म हो जायेगा|

लेकिन अभी भी इस तीन तलाक के विधेयक की चाबी कांग्रेस के पास राज्य सभा में थी, बस कांग्रेस उसी चाबी का इस्तेमाल कर रही है| अब कांग्रेस पार्टी मुस्लिम महिलाओं के साथ नहीं बल्कि मर्दों के साथ खड़ी है क्योंकी 2018 में 5 और राज्यों में चुनाव होने हैं| और ऐसे में मुस्लिम मर्दों का कुछ प्रतिशत वोट बैंक कांग्रेस ने अपने खेमे में करने की कोसिस की है| कांग्रेस का कहना है अगर तीन तलाक के मुद्दे पर मुस्लिम महिला के पति को जेल हो जाती है तो पति के ना होते हुए महिला और उसके बच्चों की जिम्मेबारी कौन लेगा|

“हम कांग्रेस वालों से ये पूछना चाहते हैं एक तरफ तो जुर्म को रोकने के लिए कानून बनाया जाता है और आप लोग किसी जुर्म को भी सेफ्टी दिलवाना चाहते हैं तो फिर अगर आपने तीन तलाक के विधेयक को लोक सभा में ही क्यों नहीं रोक दिया तो आप वही कह देते की होने दो मुस्लिम महिलाओं पर जुर्म तुम्हें इससे क्या फर्क पड़ता हैं”

तीन तलाक का कानून बनने से पहले जब मुस्लिम पति अपनी पत्नी को बच्चों सहित छोड़ देता था तब उनका पालन पोषण क्या कांग्रेस सरकार करती थी जो अब बीजेपी मना कर रही है पहले भी तो वह मुस्लिम पत्नी अपने आप और बच्चों को पालती होंगी तो फिर अब कांग्रेस पार्टी को मुस्लिम ओरतो और बच्चों की इतनी फ़िक्र क्यों होने लगी| कानून तो इसीलिए बनाया जाता है ताकि लोग सजा के डर से जुर्म ना करें और हमें लग रहा है कांग्रेस इस जुर्म को और बढ़ावा दे रही है|

कांग्रेस तीन तलाक विधेयक पर राज्य सभा में क्यों अटकी मुख्या कारण

1. कांग्रेस अपने कार्य काल में इस बिल को लाने में असमर्थ रही
2. राज्य सभा में बिल के पारित हो जाने से 70% मुस्लिम कांग्रेस वोट ख़त्म हो जाने का डर “वो तो वैसे भी ख़त्म हो चुके हैं”
3. 2018 में होने वाले चुनावों में मुस्लिम महिलाओं के कांग्रेस के प्रति वोट बैंक खत्म
4. 2019 के लोक सभा चुनावों पर कांग्रेस के लिए गहरा असर
5. तीन तलाक की लोक सभा से मंजूरी के बाद मोदी की वाह वाही बर्दास्त से बाहर कांग्रेस

कई बड़े घटक दल मोदी सरकार को राज्य सभा में तीन तलाक के बिल को मंजूरी ना मिलने से एक बड़ा झटका मान रहे हैं परन्तु यहाँ इसके उलटा होगा हारी हुई बाजी को मोदी अच्छी तरह से जित में बदलना जानते हैं और अगर 2019 के चुनावों से पहले अगर यह तीन तलाक का विधेयक पारित नहीं हुआ तो कांग्रेस इस 44 से महज 14 सीटों में सिमिट जाएगी क्योंकी मोदी ऐसा करने में सफल ही नहीं बल्कि बेहद कामयाब भी होंगे और कांग्रेस के पाले में पड़ने वाले मुस्लिम महिलाओं के वोट बिल्कुल खत्म हो जायेंगे|

Here Are Some Political Books To Change Your Life