एशिया की सबसे बड़ी दूरबीन “एरीज” भारत के उत्तराखंड में स्थापित

0
133
The world's largest telescope Aries

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बेल्जियम में प्रधानमंत्री चार्ल्स मिचेल ने सयुंक्त रूप से एशिया की सबसे बड़ी दूरबीन आर्यभट प्रेक्षण विज्ञान शोध संस्थान “एरीज” का बेलजियम की राजधानी ब्रसेल्स से रिपोर्ट के माध्यम से उद्घाटन किया| यह दूरबीन उत्तराखंड में नैनीताल के पास देवस्थल में मनोरा पहाड़ी पर स्थित है| इसे देवस्थली ओप्टिकल टेलिस्कोप डीओटी के नाम से भी जाना जाता है यह दुनिया की आधुनिक दूरबीन है, जो कई वैज्ञानिक अनुप्रयोगों के अवलोकन में सहयोग करेगी| हिमालय की सफलतापूर्वक स्थापना के मौके पर प्रधानमंत्री ने दोनों के वैज्ञानिकों को बधाई दी|

इस दूरबीन से सम्बंधित महत्वपूर्ण बातें|

1.एरीज दूरबीन का उपयोग सितारों की सरंचनाओँ और चुंबकीय क्षेत्र की सरंचनाओं का अध्ययन करने के लिए किया जाएगा| जिससे तारों के संबध में कई नई जानकारियां हासिल की जा सकेगी|

2.इस दूरबीन का निर्माण बेल्जियम के एड्वांस्डर मैकेनिकल ओप्टिकल सिस्टम एएमओएस और एरीज द्वारा किया गया है|

3.यह दूरबीन भारत बेल्जियम के सहयोगात्मक प्रयास का उत्पाद है और रुसी विज्ञानं अकादमी ने सहायता प्रदान की है|

4.यह एशिया की सबसे बड़ी दूरबीन के रूप में कावलोर तमिलनाडु में स्थित वेणु बापू वेधशाला की जगह लेगी|

5.इसका प्राथमिक दर्पण 3.6 मीटर चौड़ा है और सहायक दर्पण 0.9 मीटर चौड़ा है|

6.मार्च 2015 से फरवरी 2016 के दौरान एएमओएस और एरीज द्वारा सयुंक्त रूप से इस दूरबीन का सफल परीक्षण किया गया था|

Buy Telescope दूरबीन For Your Tour

राजस्थान राज्य का पहला वैक्स म्यूजियम उदयपुर में बनेगा

उतर प्रदेश के कुशीनगर में बनेगी विश्व की सबसे ऊँची बुद्ध मूर्ति